August 12, 2017

इस दुनिया से निराला हूँ-रागिनी १९५८

संगीतकार नैयर का जादू वाकई निराला है. ये गीत
उनके संगीत पर ही बना हुआ सा सुनाई देता है. एक
गायिका के गीतों से सफल सफर की शुरूआत कर
दूसरी गायिका को फिल्म संगीत क्षेत्र की बुलंदियों
तक पहुँचाने का सिलसिला थमा सन १९७४ की एक
लंबे नाम वाली फिल्म पर. उसके बाद नैयर ने फिल्मों
में संगीत तो दिया मगर कुछ छूटा सा लगता रहा.

प्रस्तुत गीत में उन दोनों गायिकाओं की आवाजें हैं
जिनका जिक्र हमने ऊपर किया है. ओ पी नैयर से और
गीता दत्त के प्रारब्ध से बस एक ही शिकायत है कि
कुछ और संगीत के खजाने को मालामाल कर देते.



गीत के बोल:

इस दुनिया से निराला हूँ मैं जादूगर मतवाला हूँ
इस दुनिया से निराला हूँ मैं जादूगर मतवाला हूँ
मेरे गीत में वो जादू है पाँव तेरे रुक जायेंगे
मेरे गीत में वो जादू है पाँव तेरे रुक जायेंगे
छिप छिप हमको देखने वाली
छिप छिप हमको देखने वाली नैन तेरे मुस्कायेंगे
इस दुनिया से निराला हूँ मैं जादूगर मतवाला हूँ
इस दुनिया से निराला हूँ मैं जादूगर मतवाला हूँ

तान रसीली गा कर तूने मेरा मन लहराया रे
तान रसीली गा कर तूने मेरा मन लहराया रे
मैं तो यही जानूँ बस इतना ही मानूँ
तूने जादू आन जगाया रे
मैं तो यही जानूँ बस इतना ही मानूँ
तूने जादू आन जगाया रे

कैसे रूठ सकेंगे तुझसे जान के हम बन जाते हैं
कैसे रूठ सकेंगे तुझसे जान के हम बन जाते हैं
देखो देखो कैसे हम तुम
देखो देखो कैसे हम तुम रूठ के फिर मन जाते हैं
इस दुनिया से निराला हूँ मैं जादूगर मतवाला हूँ
इस दुनिया से निराला हूँ मैं जादूगर मतवाला हूँ
........................................................................
Is duniya se nirala hoon-Ragini 1958

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2017. Powered by Blogger

Back to TOP