July 15, 2017

एलो जी सनम हम आ गये-अंदाज़ अपना अपना १९९४

बड़ा नैयराना सा लगता है, जी हाँ संगीतकार तुषार भाटिया ने
नैयर की यादें ताज़ा की हैं इस गीत के माध्यम से. गीत के
शुरू के शब्द हैं एलो एलो. ये लो-नहीं हैं क्यूंकि गाते समय
वो येलो येलो हो जाता है यानि के पीला पीला. एलो-वेरा का
ज़माना बाद में आया था जी, इसलिए अपना ध्यान इधर उधर
मत भटकाइये.

फिल्म सन १९९४ की है जिसके गाने खूब चले थे और इस
फिल्म के संगीत के बाद तुषार भाटिया ने फिल्मों में संगीत
क्यूँ नहीं दिया उसका जवाब उनके ही पास बेहतर होना चाहिए.
इस गीत के लिए उन्होंने विक्की मेहता और बेहरोज़ चटर्जी
की सेवाएं लीं. बेहरोज़ इसके पहले भी हिंदी फिल्मों में गीत
गा चुकी हैं.




गीत के बोल:

एलो एलो
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के
अब इतना भी गुस्सा करो नहीं जानी
ये खोया खोया मौसम पवन दीवानी
अब इतना भी गुस्सा करो नहीं जानी
ये खोया खोया मौसम पवन दीवानी
हो ओ ओ कहीं उड़ा ले न यारा तुझे
दिलदारा तुझे
एलो एलो
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के


ऐसे जादूगर हैं बहार के ये दिन
जान ही न ले ले खुमार के ये दिन
ऐसे जादूगर हैं बहार के ये दिन
जान ही न ले ले खुमार के ये दिन
देखो जान-ए-जाना बहक न जाना
आ जा मैं दे दूँ सहारा तुझे  
दिलदारा तुझे
एलो एलो
एलो जी सनम हम आ गये
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के

माथे पे तो बल है लबों पे मुस्कन
छब है ग़ज़ब की मैं तेरे क़ुर्बान
मैं तेरे क़ुर्बान
बल्ले बल्ले मेरी जान
माथे पे तो बल है लबों पे मुस्कन
छब है ग़ज़ब की मैं तेरे क़ुर्बान
हाय मर जाऊँगा जीने नहीं पाऊँगा
ऐसे न मारो नज़ारा मुझे
दिलदारा तुझे
एलो एलो जी
एलो जी सनम हम आ गये
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के

चलो जी चलो जी मैं
चलो जी मैं गुस्सा न और करूँगी
तेरी शिक़ायत पे गौर करूँगी
चलो जी मैं गुस्सा न और करूँगी
तेरी शिक़ायत पे गौर करूँगी
तेरी शिक़ायत पे गौर करूँगी
क्या है मेरी मंज़िल समझ गया दिल
क्या है मेरी मंज़िल समझ गया दिल
जाना करो न इशारा मुझे
दिलदार मुझे
एलो एलो
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के
अब इतना भी गुस्सा करो नहीं जानी
ये खोया खोया मौसम पवन दीवानी
हो ओ ओ कहीं उड़ा ले न यारा तुझे दिलदारा तुझे
एलो एलो
एलो जी सनम हम आ गये आज फिर दिल ले के
……………………………………………………….
Aelo aelo-Andaz apna apna 1994

Artists: Aamir Khan, Raveena Tandon

0 comments:

© Geetsangeet 2009-2017. Powered by Blogger

Back to TOP